KidsOut World Stories

फ़ीनिक्स चिड़िया    
Previous page
Next page

फ़ीनिक्स चिड़िया

A free resource from

Begin reading

This story is available in:

 

 

 

 

 

फ़ीनिक्स चिड़िया

 

 

 

 

 

 

 

 *

 

वक़्त के शुरुवात में एक सुन्दर बगीचा, पैराडाइस था. आदम और ईव उस बगीचे में रहते थे और उनकी ज़िन्दगी सूखत और अच्छी थी. बगीचे ने उनकी सारी ज़रूरते पूरी की. वह शांति से रहते थे. पेड़ सुन्दर फल और पौदे, रंगीली चिड़ियाँ और जानवरो से घेरि हुई थी. वह बगीचे को सम्हालते थे और बगीचे से उन्हें वह सारी चीज़े मिलता थी जिसकी वह आशा कर सकते थे. धुप से गर्मी मिलती थी, पेड़ से फल और नहाने के लिए नदी का नरम, साफ़ पानी. उन्हें बनाया गया था एक उत्तम दुनिया में रहने के लिए, लेकिन पैराडाइस में उन्हें एक चीज़ करने की अनुमति नहीं थी. उन्हें एक पेड़ से फल खाना मना था.

बहुत साल होगये और आदम और ईव उस पेड़ के पास कभी नहीं गए. एक दिन ईव के दिमाग से आवाज़ निकली. वह उस पेड़ के बारे में सोचने लगी. क्यों न उस पेड़ के फल को खाया जाये? इसका मतलब क्या होसकता है? आखिर पेड़ उसे क्या बता सकता था? वह पेड़ नुक्सान कैसे कर सकता था? कोई भी जानना चाहता होगा, नहीं?

इसलिए ईव ने वोह फल खा लिया और उस ही पल से ज़िन्दगी बदलने वाली थी. पैराडाइस शुद्धता और अच्छाई झलकता था, लेकिन उस पेड़ के वजह से ईव ने बुराई का मतलब सीखा. ईव ने यह बात जाके आदम को बतादि और उन्हें इस दुनिया से हमारी दुनिया में डाला गया. उन्होंने झूठ, दर्द, भूक, निर्दयता और नफरत के बारे में सीखा. उनका पैराडाइस खोगया.

यह दुख की बात थी लेकिन कहानी यहाँ ख़तम नहीं हुई. उस पेड़ के नीचे, सबसे पहली खिली हुई गुलाब से एक नयी चिड़िया पैदा हुई. चिड़िया बहुत सुन्दर गाती थी, उसके पर लाजवाब थे और वह तेज़ी से उड़ती थी. पैराडाइस से एक जलती हुई तलवार ने आदम और ईव का पीछा किया, लेकिन उस तलवार से एक चिंगारी निकली और उस ही चिड़िया के घोसले में गिरगयी. घोसले में आग लग गयी और चिड़िया चली गयी. फिर, एक चमत्कार हुआ! घोसले में एक अंडा था जिससे एक नयी चिड़िया निकली जो आसमान में उड़ गयी और उस ही पल दुनिया की पहली 'फ़ीनिक्स' चिड़िया निकली.

हम सब फ़ीनिक्स चिड़िया से अपने ज़िन्दगी में मिलते है. वह कभी हमें दिखती तोह नहीं है, लेकिन उसके होने का एहसास ज़रूर होता है. वह पैराडाइस से आती है और हमेशा हमारी जीवन में रहेगी. वह उत्तर से दक्षिण सफर करती है, धरती, रेगिस्तान और पहाड़ के ऊपर से. हमारे गॉव और शहरों में आती है. पलाने में लेटे हुए बच्चे, स्कूल के बच्चे और ऑफिस और कारखाने के लोगो से मिलती है.

वह चिद्दिया जो अंगारो से निकली, हर साल जाग उठती है. वह अंगारो में नष्ट हो जाती है और उसके बाद जाग उठती है, एक नए बढ़ते हुए चमक के साथ. वह सब से मिलती है और उनकी ज़िन्दगी उजाला, सुंदरता, रंग, संगीत, शायरी और गानों से भर देती है. वह बच्चो को खुशिया, भोलेपन और भविष्य की उम्मीद देती है, इससे पहले की वह ज्ञान का फल चखे और मुश्किलों का ज़िन्दगी में सामना करे.

क्यूंकि पैराडाइस आग से निकली हम जानते है की हम भी निकल सकते है. क्यूंकि ईव ने पहले ज्ञान का फल चखा हमें भी चखना चाहिए और यह समझना चाहिए की हमारी ज़िन्दगी में अच्छाई और बुराई हमेशा होगी. इसलिए जब दुर्घटना घटे और सब गलत हो जाये, हमें उस फ़ीनिक्स चिड़िया की तरह होना चाहिए, अंगारो से निकलना सीखना चाहिए और एक अच्छी ज़िन्दगी ढूंढ़नी चाहिए.

 

Enjoyed this story?
Find out more here